विदेशी मुद्रा व्यापार टिप

बिटकॉइन भारत में वैध है या नहीं

बिटकॉइन भारत में वैध है या नहीं

Hi, I am Anup founder of Indo Blogging. In indo blogging, you will find Blogging and youtube tips. I am also sharing some valuable tips related to Social Media Marketing.

बिटकॉइन भारत में वैध है या नहीं

Follow me on twittter

JOIN MY TELEGRAM GROUP

Telegram channel

JOIN ME ON PINTEREST

Pinterest

JOIN OUR VIP FACEBOOK PAGE

Facebook

JOIN ME ON INSTAGRAM

INSTAGRAM

This Website is DMCA Protected

DMCA.com Protection Status

पृष्ठ

श्रेणियां

    (37) (70) (33) (84) (49)

indo Blogging


Hi, I am Anup founder of Indo Blogging. In indo blogging, you will find Blogging and youtube tips. I am also sharing some valuable tips related to Social Media Marketing.

जानिए क्या है बिटकॉइन और क्यों चढ़ रही है कीमत?

इन दिनों निवेश की दुनिया में सबसे ज्यादा चर्चा में बिटकॉइन है. मगर क्या आप जानते हैं कि क्या है बिटकॉइन? लगातार क्यों चढ़ रही हैं इसकी कीमतें?

जानिए क्या है बिटकॉइन और क्यों चढ़ रही है कीमत?

भारत में भी नियामक संस्थाएं बिटकॉइन से खुश नहीं हैं. आरबीआई के वरिष्ठ अधिकारी सुदर्शन सेन ने सितंबर में कहा था कि केंद्रीय बैंक इस तरह की 'गैर-व्यवस्थित' क्रिप्टोकरेंसी में कारोबार से सहज नहीं है. मगर सवाल उठना लाजमी है कि बिटकॉइन क्या है और यह कैसे काम करता है?

क्या है बिटकॉइन
बिटकॉइन एक तरह की क्रिप्टोकरेंसी है. अंग्रेजी शब्द 'क्रिप्टो' का अर्थ गुप्त होता है. यह एक प्रक्रार की डिजिटल करेंसी है, जो क्रिप्टोग्राफी के नियमों के आधार पर संचालित और बनाई जाती है. क्रिप्टोग्राफी का अर्थ को कोडिंग की भाषा को सुलझाने की कला है.

bitcoin-reuters

बिटकॉइन को आप छू नहीं सकते यानी की यह डिडिटल फॉर्म में ही रहती हैं. यही इसकी सबसे खास बात है. दूसरे शब्दों में आप इसे विकेंद्रीकृत डिजिटल करेंसी भी कह सकते हैं. बिटकॉइन का आविष्कार साल 2009 में सतोषी नाकामोटो ने किया था.

कैसे करता हैं यह काम?
बिटकॉइन विशेषज्ञ हितेश मालवीय का कहना है कि बिटकॉइन वर्चुअल कॉइन (कृत्रिम सिक्के) हैं, जो अपनी कीमत बनाने और बढ़ाने के लिए डिजाइन किए गए हैं. इस तरह पैसों के लेन-देन के लिए आपकों बैंकों तक जाने की जरूरत नहीं है.

यदि आपके पास बिटकॉइन है, तो इसकी कीमत और वैल्यू उसी तरह मानी जाएगी जैसे ईटीएफ में कारोबार करते समय सोने की होती है. आप बिटकॉइन के जरिए ऑनलाइन शॉपिंग भी कर सकते हैं और इसे निवेश के रूप में भी रख सकते हैं.

बिटकॉइन एक पर्सनल ई-वॉलेट से दूसरे पर्सनल ई-वॉलेट में ट्रांसफर किए जाते हैं. ये ई-वॉलेट्स आपका निजी डेटाबेस होते हैं, जिसे आप अपने कंप्यूटर, लैपटॉप, स्मार्टफोन, टैबलेट या किसी ई-क्लाउड पर स्टोर करते हैं.

बिटकॉइन का रिटर्न
बिटकॉइन ने अपनी एंट्री के साथ ही गगनचुंबी रिटर्न दिए हैं. सात सालों में बिटकॉइन ने 10 रुपये के निवेश को 6.2 लाख रुपये कर दिया. इस साल बिटकॉइन ने जनवरी से नवंबर के दौरान 900 फीसदी का रिटर्न बिटकॉइन भारत में वैध है या नहीं दिया है.

Bitcoin

Bitcoin is a digital currency that is not tied to a bank or बिटकॉइन भारत में वैध है या नहीं government and allows users to spend money anonymously.

बुधवार को ही अमेरिकी बाजार में इस क्रिप्टोकरेंसी की कीमत $10,000 के स्तर के पार गई. कमाल की बात यह है कि इसकी मांग और लोगों की बिटकॉइन के लिए दिवानगी का आलम यह था कि चंद ही घंटों में यह करेंसी 20 फीसदी की छलांग लगाकर $11,000 का स्तर भी पार कर गई.

इस करेंसी की अस्थिरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि एक ही दिन में इसकी कीमत $11,434 के सर्वोच्च स्तर को छूने के बाद $9,009 तक भी लुढ़क गई. अमेरिकी बाजार पर काफी समय तक इसकी कीमतों में कोई फेरबदल देखने को नहीं मिला.

चिंता के बादल
गौरतलब है कि इस सितंबर के अंत तक इस क्रिप्टोकरेंसी की कीमत $4,171.25 थी. कई विशेषज्ञ इस गु्ब्बारे ही हवा निकलने के संकेत दे रहे हैं. विशेषज्ञों का मानना है कि इतने कम समय में दोगुना रिटर्न देने के बाद असली सवाल यह कि वे निवेशकों को कब बाहर जाने कि सलाह दें.

इसमें कोई दो राय नहीं कि बिटकॉइन के रिटर्न असाधारण हैं. इस बुलबुल के फूटने के संकेत इस बात से भी लगाए जा रहे बिटकॉइन भारत में वैध है या नहीं हैं कि जहां एक तरफ कुछ दिग्गजों को उम्मीद हैं कि बिटकॉइन 2018 के अंत तक $40,000 डॉलर के स्तर को पार कर जाएगा, वहीं 2017 में यह तीन दफा एक ही सत्र में 25 फीसदी तक टूट चुका है.

Bitcoin जैसी क्रिप्टोकरेंसी को भारत में नहीं मिलेगी कानूनी वैधता, फाइनेंस सेक्रेटरी ने बताई ये वजह

फाइनेंस सेक्रेटरी टीवी सोमनाथन

फाइनेंस सेक्रेटरी टीवी सोमनाथन (T. V. Somanathan) ने क्रिप्टो में निवेश से बचने की सलाह दी और कहा कि इसकी कोई गारंटी नह . अधिक पढ़ें

  • moneycontrol
  • Last Updated : February 02, 2022, 21:38 IST

नई दिल्ली. देश के फाइनेंस सेक्रेटरी टीवी सोमनाथन (TV Somanathan) ने क्रिप्टोकरेंसी को लेकर बुधवार को बड़ी बात कही. सोमनाथन ने कहा कि दुनिया की सबसे प्रचलित क्रिप्टोकरेंसी बिटक्वाइन (Bitcoin), इथीरियम या नॉन फंजीबल टोकन यानी एनएफटी (NFT) कभी वैध मुद्रा या लीगल टेंडर घोषित नहीं हो सकते. उन्होंने कहा कि क्रिप्टो एसेट को सरकार की तरफ से कोई मंजूरी नहीं मिली है और इसके दाम प्राइवेट तरीके से सेट किए जाते हैं.

हालांकि सोमनाथन ने कहा कि रिजर्व बैंक की ओर से लाई जाने वाली डिजिटल करेंसी कभी डिफॉल्ट नहीं होगी. आरबीआई द्वारा जारी किया गया डिजिटल रुपया लीगल टेंडर होगा.

फाइनेंस सेक्रेटरी ने साफ कहा, ”बिटक्वाइन या इथीरियम या एनफटी…ये कभी लीगल टेंडर घोषित नहीं होंगे. क्रिप्टो एसेट ऐसी संपत्ति है जिसकी कीमत या वैल्यू दो लोगों के बीच निर्धारित होती है. उन्होंने कहा कि आप सोना खरीदें, हीरा खरीदें या क्रिप्टो खरीदें, लेकिन उसके दामों को सरकार कभी ऑथराइजेशन तय नहीं करती.”

ये भी पढ़ें- Exclusive Interview : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया, कैसे और कब तक भारत बनेगा 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी

क्रिप्टो में निवेश से बचने की सलाह देते हुए सोमनाथन ने कहा, “निजी क्रिप्टो में निवेश करने वाले लोगों को यह समझना चाहिए कि इसके पास सरकार का प्राधिकरण नहीं है. आपका निवेश सफल होगा या नहीं, इसकी कोई गारंटी नहीं है, नुकसान हो सकता है और इसके लिए सरकार जिम्मेदार नहीं है.”

‘क्रिप्टो एक सट्टा लेनदेन है’
क्रिप्टो पर टैक्स को लेकर सोमनाथन ने कहा, “बिटकॉइन भारत में वैध है या नहीं क्रिप्टो एक सट्टा लेनदेन है, इसलिए हम इस पर 30 फीसदी की दर से टैक्स लगा रहे हैं. बिटक्वाइन या इथेरियम का वास्तविक मूल्य कोई नहीं जानता. उनकी दर में बिटकॉइन भारत में वैध है या नहीं दैनिक उतार-चढ़ाव होता है. क्रिप्टो के जरिए कमाई करने वालों को अब 30 फीसदी का पेमेंट करना होगा. यह सरकार की नई पॉलिसी है.”

फाइनेंस सेक्रेटरी ने कहा कि यह टैक्स केवल क्रिप्टो के लिए नहीं है, यह सभी सट्टा आय के लिए है. उदाहरण के लिए यदि मैं घोड़े की रेस से हुई कमाई को लेता हूं, तो उस पर भी 30 फीसदी टैक्स लगता है. किसी भी सट्टा लेनदेन पर पहले से ही 30 फीसदी टैक्स है. इसलिए हमने उसी दर से क्रिप्टोकरंसी पर टैक्स लगाने का फैसला किया है.”

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

बिटकॉइन के इस्तेमाल पर पेटीएम का बड़ा बयान, क्रिप्टोकरेंसी वैध होने पर कर सकता है विचार

Bitcoin: बिटकॉइन पर ये टिप्पणी ऐसे समय आई है जब पेटीएम 2.5 अरब डॉलर के पब्लिक सब्सक्रिप्शन के लिए सार्वजनिक सदस्यता की तैयारी कर रहा है.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - November 5, 2021 / 03:11 PM IST

बिटकॉइन के इस्तेमाल पर पेटीएम का बड़ा बयान, क्रिप्टोकरेंसी वैध होने पर कर सकता है विचार

बिटकॉइन एक किस्म की वर्चुअल करेंसी है. जो 2009 मं शुरू हुई थी. फिलहाल बिटकॉइन तेजी से लोकप्रिय हो रहे हैं.

Bitcoin: अगर भारत की रेगुलेटरी एजेंसी क्रिप्टो कॉइन पर जारी अनिश्चितता को खत्म कर देती हैं तो, डिजिटल पेमेंट में भारत का अग्रणी प्लेटफॉर्म पेटीएम बिटकॉइन (Bitcoin) की पेशकश पर विचार कर सकता है. लाइव मिंट ने ब्लूमबर्ग टीवी के एक इंटरव्यू के हवाले से ये रिपोर्ट दी है. ब्लूमबर्ग बिटकॉइन भारत में वैध है या नहीं टीवी के हसलिंडा अमीन और रिशाद सलामत को मुख्य वित्तीय अधिकारी मधुर देवड़ा ने एक इंटरव्यू में ये बात कही. देवड़ा ने कहा कि इस संबंध में अभी सभी एसेट ग्रे एरिया में ही हैं.

पेटीएम की प्लानिंग

देवड़ा ने कहा कि बिटकॉइन के मामले में नियामक अब भी स्पष्ट नहीं है. इसलिए फिलहाल पेटीएम बिटकॉइन में लेनदेन नहीं करता है. भारत में बिटकॉइन को कानूनी मान्यता मिलने पर ही इस बारे में पेटीएम विचार कर सकता है.

भारत के केंद्रीय बैंकों ने मार्च 2020 में क्रिप्टो करेंसी की ट्रेडिंग पर बिटकॉइन भारत में वैध है या नहीं बिटकॉइन भारत में वैध है या नहीं पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया था. सरकार कई बार क्रिप्टो कानून पर विचार कर चुकी है. लेकिन रिजर्व बैंक इस मामले में प्रतिबंध लगाने की ही वकालत करता रहा है.

बिटकॉइन पर देवड़ा की ये टिप्पणी ऐसे समय आई है जब पेटीएम अपने 183 अरब रूपये (2.5 अरब डॉलर) के पब्लिक सब्सक्रिप्शन के लिए सार्वजनिक सदस्यता की तैयारी कर रहा है. नवंबर के मध्य में इसकी लिस्टिंग की उम्मीद है. इस राशि का तकरीबन आधा हिस्सा पेटीएम अपने एंकर इंवेस्टर्स को बेच भी चुका है. एंकर इंवेस्टर्स यानि ऐसे इंवेस्टर जिन्हें कंपनियां आईपीओ मार्केट में उतरने से पहले ही शेयर बेच देती हैं.

बिटकॉइन क्या हैं?

बिटकॉइन एक किस्म की वर्चुअल करेंसी है. जो 2009 मं शुरू हुई थी. फिलहाल बिटकॉइन तेजी से लोकप्रिय हो रहे हैं. जिसकी वजह से एक एक बिटकॉइन की बिटकॉइन भारत में वैध है या नहीं कीमत एक लाख रूपये के आसपास पहुंच चुकी है. इसे ही भविष्य की करेंसी या बिटकॉइन भारत में वैध है या नहीं क्रिप्टो करेंसी भी कहा जा रहा है. इसका भुगतान डिजिटल माध्यमों से ही हो सकता है.

रेटिंग: 4.61
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 132
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *